Pyar Ki Shayari

Pyar Shayari

बहुत छोटी लिस्ट है, मेरी ख्वाइशों की,
पहली भी तुम और आखरी भी तुम।

क्या ऐसा हो सकता है ?
हम प्यार मांगे और तुम,
गले लगा कर कहो,
और कुछ?

एक हसरत थी, कि
कभी वो भी हमें मनायें।
पर ये कमजोर दिल कभी,
उनसे रूठा ही नहीं।

हालत जो भी हो।
हर हाल में इक दूजे को,
समझ पाना ही “सच्ची मोहब्बत” है।

हमें क्या पता था?
कि मोहब्बत कैसे होता है?
हमें तो बस आप मिले और,
इश्क हो गया।

Tere Pyar ki Shayari

कौन कहता है, कि
इश्क बर्बाद कर देता है।
कोई निभाने वाला हो, तो
दुनिया याद करती है

कोई तुम्हें ना मांगे,
मैं यह भी दुआ मांगता हूँ ।

तुम्हे पाना मेरी कोशिश नहीं,
तुम्हे खुश देखना मेरी चाहत है।

दिल चाहता था,
उसे नजरअंदाज करना।
मगर आंखें थी कि,
उस पर से हटी ही नहीं।

प्यार कहते हैं, आशिकी कहते हैं।
कुछ लोग उसे बंदगी कहते हैं।
मगर जिसके साथ हमें मोहब्बत है,
हम उन्हें अपनी जिंदगी कहते हैं।

तुम्हें पाए बिना ही,
तुम्हें खोने से डरता हूं।

दिल में छुपा रखी है,मोहब्बत तुम्हारी,
खजाने की तरह।
बताते नहीं किसी को भी,
कि कहीं शोर ना मच जाए।

तुम्हारी फिक्र है मुझे शक नहीं,
तुम्हें कोई और देखे, ये किसी को हक नहीं।

इससे ज्यादा और कितना करीब लाऊं तुम्हें।
तुम्हें दिल में रखकर भी,
मेरा दिल नहीं भरता।

तू कभी मुझे मिले या ना मिले।
बस इतनी सी ख्वाहिश है, कि
तुझे लाइफ की हर खुशी मिले।

Tere Pyar ki Shayari

लफ्ज कम है, और
तुमसे मोहब्बत ज्यादा।

बहुत प्यार आता है उस पर,
जब वो रोते हुए कहती है,
बहुत मारूंगी हां,
अगर मुझे छोड़कर गए तो।

उसके रूठने की अदाएं भी,
क्या गजब की है?बात बात पर ये कहना,
सोच लो फिर मैं बात नहीं करूंगी।

Mere Pyar Ki Shayari

दिल में उसकी चाहत और,
लबों पे उसका नाम है।
वो वफा करे या ना करे,
जिंदगी अब उसी के नाम है।

अपनी फिक्र करनी छोड़ दी है हमने।
तुम जो इतना ख्याल रखते हो मेरा।

तुम चाय की तरह मोहब्बत किया करो।
मैं बिस्कुट की तरह डूब ना जाऊं तुम देखना

मेरे प्यार का हद ना पूछो तुम।
हम जीना छोड़ सकते हैं,
पर तुम्हें प्यार करना नहीं।

लाखों लोग मिलकर दुनिया बनाते हैं,
और मेरी तो दुनिया ही तुम हो।

मेरी चाहत अगर देखनी है, तो
अपने दिल को मेरे दिल से लगाकर देख।
अगर तेरी धड़कन ना बढ़ जाए,
तो मेरी मोहब्बत ठुकरा देना।

कई महफिल है, लाखों मेले हैं।
पर जहां तुम नहीं, वहां हम अकेले हैं।

Mere Pyar Ki Shayari

Pyar Mohabbat Ki Shayari

सासें तो रोक लूँ अपनी,
ये तो मेरे बस में है।
यादें कैसे रोकू तेरी ?
तू मेरी नस-नस में है।

माना कि तेरी नजर में मैं कुछ नहीं हूं।
मगर मेरी कदर उनसे पूछ,
जिन्हें मुड़कर नहीं देखा मैंने।

बस आप यूं ही हंसते रहा कीजिए।
और हम आपको यूं ही हंसाते रहेंगे।

शादी ऐसी करो जो दो दिलों को नहीं,
बल्कि दो घरों को भी जोड़ दें।

Pyar ki Shayari

हर बार संभाल लूंगा,
गिरो तुम चाहे जितनी बार।
बस इल्तेजा एक ही है, कि
मेरी नजरों से ना गिरना।

आंख खुलते ही तेरी याद आ जाना।
आंखों की ये पहली खुशी कमाल करती है।

चाहत ने तेरी मुझे घायल कर दिया।
प्यार ने तेरे मुझे पागल कर दिया।
जिंदगी को हंस के जीना चाहते थे,
पर तेरी याद ने हमें दीवाना कर दिया।

Pyar Mohabbat Ki Shayari

Pyar wali Shayari

उसकी बातें,
मुझे खुशबू की तरह लगती है।
फूल जैसे कोई सेहरा में खिला करता है।

चलो आओ अजनबी बनकर, फिर से मिले।
तुम मेरा नाम पूछो, मैं तुम्हारा हाल पूछता हु

Shayari Pyar Ki

इश्क एक भाषा है,
जिसे हर कोई बोलता है।
पर समझता वही है,
जिसके पास दिल है।

नजरें तलाशती है,जिसको
वो प्यारा सा ख्वाब हो तुम।
मिलती है दुनिया सारी,
ना मिलकर भी लाजवाब हो तुम।

मत पूछ , कैसे गुजरता है,हर पल, हर लम्हा तेरे बिना।
कभी बात करने की हसरत तो, कभी देखने की तमन्ना।

गुस्सा वही करता है,
जिसमे प्यार कूट-कूट कर भरी हो।

मौत और मोहब्बत, दोनों की पसंद एक जैसी है।
क्योंकि एक को दिल चाहिए, और दुसरे को धड़कन।