Retirement Shayari in hindi

सेवानिवृत्ति समारोह का मतलब विदाई समारोह या फेयरवेल पार्टी होता है. यह समारोह उस समय आयोजित होता है जब किसी व्यक्ति का रिटायरमेंट होता है या संगठन छोड़ता है .तब colleague या संस्थान उसका आयोजन करते हैं। कोई पार्टी भी दी जाती हैं उसे ही हम retirement Party कहते हैं.

Retirement Shayari In Hindi

दोस्तो विदाई समारोह में अपने सीनियर, शिक्षक, सहकर्मी, अफ़सर या अध्यापक आदि को Wishes देकर विदा करते हैं. आज हम यहां बहुत ही सुन्दर सेवानिवृत्ति पर बधाई संदेश लेकर आये हैं. उम्मीद करते है कि आपको यह विदाई समारोह की शायरी पसंद जरूर आयेंगी.

shayari for retirement in hindi,
retirement hindi shayari,
teacher retirement shayari in hindi,
sher on retirement in hindi,
retirement sher shayari,

होंगे जुदा ऐसी खबर आई है
दिल भी है बेचैन, साँसे थम आई है
देंगे हम आपको फेयरवेल की पार्टी लेकिन…
दूर होने की है बेचैनी और आँखे भर आई है।

आप जैसा सज्जन कहीं नहीं है
आपके जैसा सरल मन कहीं नहीं है
आपको हम विदाकर दें मगर
सीनियर जैसा धन कहीं नहीं है ।

रिटायरमेंट शायरी

aap jaise sajjan kahi nahi hai
aapke jaisa saram man kahi nahi hai
aapko hm vida kar de magar
senior jaisa dhan kahi nahi hai

रिटायरमेंट विशेस पोयम्स इन हिंदी

हमने मांगा था साथ उनका
गम दे गए, दे गए वो जुदाई
हम यादों के सहारे जी लेते
कसम दे गए रह जाती केवल तन्हाई

सेवानिवृत्ति समारोह शायरी

shayari for retirement speech,
shayari retirement farewell,

चमन से रुख़्सत होंगे गुल ना लौटेंगे
बुलबुलों का तड़पना ज़ायज़ है ।
आप के साथ सारी मंजिले पा रहे थे
आपका युं चले जाना नाज़ायज़ है ।

chaman se rukshat honge gul naa lautenge
bulbulon ka tadapna jaayaz hai
aapke saath bhi manjile paa rahe the
aapka yu chale janaa nazayaaz hai

हैं जुदा ऐसी कोई खबर आई है
दिन भी बेचैन है , साँसे थम आई है
देंगे हम आपको रिटायरमेंट की पार्टी लेकिन…
होने लगी है बेचैनी और आँखे भर आई है।

जब कदम बेहिचक चल पड़े
थामते गए तुम, हम अगर गिर पड़े
कैसे कर दें विदा जिनसे सबकुछ सीखा
कोई बड़ी बात नहीं अगर आंसू निकल पड़े

यादों की लड़ी सी है छाई
आज विदाई की घड़ी है आई
हम दे रहे मन से तुम्हे दुआओं के साथ शुभ विदाई।।

jab bekadam behichak chal pade
thaamte gaye tum hum agar gir pade
kaise kar dei vida jinse sabkuch sikha
koi badi baat nahi agar aanshu nikal pade

मुझ को रुख़्सत होना है मेरा सामान त्यार करो
कुछ मन जाने नहीं देता जब तुम प्यार करो

mujh ko rukshat hona hai mera saamaan tayaar karo
kuh man jaane nahi deta jab tum pyaar karo

RIP Quotes In Hindi श्रद्धांजलि के लिए क्लिक करें

विदाई का दिन है
माहौल गमगिन है
विदाई की घड़ी है
मुश्किल बड़ी है

vidai ka din hai
mahaul gumgin hai
vidai ki ghadi hai
mushkil badi hai

जाने वाले से मुलाकात ना हो पाई
दिल की दिल में ही रही बात ना हो पाई

Retirement wishes in hindi

सेवानिवृत्ति पर बधाई संदेश हमारे द्वारा जो निचे दिए जा रहे हैं. उम्मीद है कि आपको यह ,Retirement Wishes in Hindi, जरूर पसंद आये होंगे.

मैं जानता हूँ मेरे जाने के बाद ख़ूब रोएगा,
रवाना कर रहा है वो हँसते हँसते मुझे

mai jaanta hu mere jaane ke baad khoob royega
rawana kar raha hai wo mujhe hasnte hanste

retirement par shayari,farewell speech hindi,

होंगे जुदा ऐसी कोई खबर है
दिल बेचैन है साँसे थम आई है
देंगे हम आपको विदाई की पार्टी लेकिन…
बेचैनी होने लगी है और आँखे भर आई है।

honge juda aisi khabar hai
dil bechain hai saanse tham aayi hain
denge hum aapko vidai ki party lekin
bechain hone lagi hai aur aankhe bhar aayi ha

Retirement Shayari In Hindi langauge

shayari for retirement,
retirement shayari hindi,सेवानिवृत्ति पर संदेश,
विदाई समारोह पर भाषण,
retirement quotes in hindi language,
सेवानिवृति पर भाषण,
सेवानिवृत्ति पर बधाई संदेश,
bidaai shayari in hindi,
retirement shayari hindi,
retirement  poems for teachers in hindi,
shero shayari of retirement,
shayari on retirement,
retirement wishes quotes in hindi,
goodbye quotes in hindi,
सेवानिवृत्ति के लिए विदाई भाषण,
retirement shayari in hindi,
goodbye message in hindi,
retirement wishes in hindi,

माना की ये दौर बदल जायेंगे।

आप जायेंगे तो कोई और आयेंगे।

मगर आपकी कमी हमेशा रहेगी।

हम आपको पल भर न भूल पाएंगे।

mana ki ye daur badal jayenge
aap jayenge to koi aur ayenge
magar aapki kami hamesha rahegi
hum aapko pal bhar na bhul payenge

hindi shayari retirement,
hindi shayari retirement,
hindi shayari retirement,
retirement shayari in hindi for teacher,
retirement farewell quotes in hindi,
shayari on retirement party,
retirement wishes hindi shayari,
hindi shayari on retirement party,
retirement shero shayari
retirement par shayari in hindi,farewell shayari,
शिक्षक विदाई शायरी
school vidai shayari in hindi,
retirement  shayari in hindi for friends,
best retirement  shayari in hindi,retirement wishes in hindi,
hindi shayari on farewell party full,
retirement speech in hindi,
hindi shayari on retirement party,
retirement quotes in hindi,
retirement  shayari in hindi for teachers,
vidai shayari,
vidai shayri,
quotes on retirement  in hindi,
vidai samaroh,
विदाई समारोह कविता,
retirement farewell shayari hindi,
hindi vidai kavita,
hindi shayari retirement,
retirement message in hindi,
retirement shayari,
विदाई समारोह,
retirement speech in hindi pdf,
hindi poem on vidai samaroh,
retirement quotes hindi,
सेवानिवृत्ति पर शायरी,
quotes on retirement in hindi,
vidai samaroh ke liye bhashan,

shayari on retirement

मुश्किलों में साथ आपका याद रहेगा ।
गिरते हुए को आपका हाथ याद रहेगा ।
आपकी जगह चाहे जो भी आये
आपके साथ हर जज़्बात याद रहेगा ।

mushkilon me saath aapka yaad rahega
girte hue ko aapka haath yaad rahega
aapki jagah chahe jo bhi aaye
aapke saath juda har jazbaat yaad rahega

Retirement Shayari

दोस्तों आज हमने दोस्तों के लिए सेवानिवृत्ति शायरी लिखी है. दोस्तों अक्सर विद्यालय में सीनियर्स, अध्यापकों और कार्यालय में सीनियर्स की विदाई होती रहती है उनकी सेवानिवृत्ति के समय फेयरवेल कार्यक्रम रखा जाता है।

जिसमें सभी लोग अपनी अपनी बातें कहते है कुछ लोग शायरी के माध्यम से अपनी बात कहते हैं . इसीलिए उनकी सहायता के लिए हमने फेयरवेल शायरी लिखी है.

तुझ से बिछड़ने की वो अँधेरी शाम आ गयी
तू ख़ामोश खड़ा था और तेरी याद दिल में समां गयी

tumse bichadne ki wo andheri shaam aa gayi
tu khamosh khada tha aur teri yaad dil me sama gayi

रेल देखी है कभी सीने पे चलती थी

याद होंगे पल जब तू दिल में रहे बदलती थी

विदाई का ये दिन है, माहौल थोड़ा गमगिन
लेकिन दुआ है रब से, आप यूं ही हंसते रहो,
महकते रहो, सबके दिल में बसते रहो।

shayari on retirement party in hindi

आपका हर पल इंतजार करेंगे हम
आप कर दे इशारा तो, जन्नत भी छोड़ आएंगे हम
आपकी हर खुशी है हमको मंज़ूर है
पर विदा आपको, हम ना कर पायेंगें।

retirement shayari,
retirement shayari,
retirement shayari,
bidaai shayari,
bidaai shayari,
bidaai shayari,
vidai quotes in hindi,
retirement quotes hindi,

विदा तो आप हो रहे हो इस कॉलेज से
बस आंखों के सामने से जा रहे हो
दिल से कैसे निकल के जाओगे आप।

तुम इसी मोड़ पर हमें ना छोड़ना
लौट कर हम ज़रूर आएँगे

उसे जाने की जल्दी थी तो मैं आँखों ही आँखों में
जहाँ तक छोड़ सकता था वहाँ तक छोड़ आया हूँ||

tum issi mod par hamei na chodna,
laut kar hum jaroor ayenge

चाहे धुप हो या आये तेज आंधियां
हम आपकी याद कभी नहीं खोते
मुस्कुरा देती है ये आँखे तुझे सोच कर
लगता है हम दूर होकर भी दूर नहीं होते।

chaahe dhoop ho ya aaye tez aandhiyaan
hum aapki yaad kabhi nahi khote
mushkura deti hai ye aankhe tujhe soch kar
lagta hai hum dur hokar bhi dur nahi hote

अगर तलाश किया जाए तो कोई मिल ही जाएगा
मगर तुम्हारी तरह कौन मुझ को कौन समझायेगा

agar talaash kiya jaaye to koi mil hi jayegaa
magar tumhari tarah kaun mujhko samjhayega

Retirement Shayari in Hindi for seniors

ये खुदा ही जाने कि अब क्या ख्याल होगा
मन में सभी के जाने अब क्या सवाल होगा
आप तो जान पे आ पड़ी है हम सबके लिये
आप के बिन यहाँ सभी का अब हाल क्या होगा।

काश जिंदगी को हम पीछे मोड़ आते
कतरा कतरा वक्त गुजर जाएगा
रूह का दामन भी साथ छोड़ जाएगा
पल दो पल साथ गुजार लो आज यारों
कल का क्या भरोसा जाने कौन कहां चला जाएगा।

ye khuda hi jaane ki ab, kya khayaal hoga
man me sabhi ke jaane ab, kya sawaal hoga
ab to jaan pe aa padi hai, hm sab ke liye
aap ke bin yaha sabhi ka, ab haal kyaa hoga

retirement shayari in urdu

आज आप हमसे तो जुदा हो जायेंगे
दुआ करते है जहा भी जायेंगे खुशियाँ पाएंगे ।

माँगी थी एक बार दुआ हम ने मौत की
शर्मिंदा आज तक हैं मियाँ ज़िंदगी से हम
अज्ञात

कौन कहता है कि मौत आई तो मर जाऊँगा
मैं तो दरिया हूँ समुंदर में उतर जाऊँगा
अहमद नदीम क़ासमी

अब तो जाते हैं बुत-कदे से ‘मीर’
फिर मिलेंगे अगर ख़ुदा लाया
मीर तक़ी मीर

उस को रुख़्सत तो किया था मुझे मालूम न था
सारा घर ले गया घर छोड़ के जाने वाला
निदा फ़ाज़ली

आँख से दूर सही दिल से कहाँ जाएगा
जाने वाले तू हमें याद बहुत आएगा
उबैदुल्लाह अलीम

जाते हो ख़ुदा-हाफ़िज़ हाँ इतनी गुज़ारिश है
जब याद हम आ जाएँ मिलने की दुआ करना
जलील मानिकपूरी

याद है अब तक तुझ से बिछड़ने की वो अँधेरी शाम मुझे
तू ख़ामोश खड़ा था लेकिन बातें करता था काजल
नासिर काज़मी

ये एक पेड़ है आ इस से मिल के रो लें हम
यहाँ से तेरे मिरे रास्ते बदलते हैं
बशीर बद्र

तुम सुनो या न सुनो हाथ बढ़ाओ न बढ़ाओ
डूबते डूबते इक बार पुकारेंगे तुम्हें
इरफ़ान सिद्दीक़ी

छोड़ने मैं नहीं जाता उसे दरवाज़े तक
लौट आता हूँ कि अब कौन उसे जाता देखे
शहज़ाद अहमद

उस से मिलने की ख़ुशी ब’अद में दुख देती है
जश्न के ब’अद का सन्नाटा बहुत खलता है
मुईन शादाब

गूँजते रहते हैं अल्फ़ाज़ मिरे कानों में
तू तो आराम से कह देता है अल्लाह-हाफ़िज़
अज्ञात

अब के जाते हुए इस तरह किया उस ने सलाम
डूबने वाला कोई हाथ उठाए जैसे
अज्ञात

मैं जानता हूँ मिरे बा’द ख़ूब रोएगा
रवाना कर तो रहा है वो हँसते हँसते मुझे
अमीन शैख़

तुम इसी मोड़ पर हमें मिलना
लौट कर हम ज़रूर आएँगे

अजीब होते हैं आदाब-ए-रुख़स्त-ए-महफ़िल
कि वो भी उठ के गया जिस का घर न था कोई
सहर अंसारी

Sena Nivrti shayari in hindi

मंजिल तुम्हारा हौसला आजमाएगी
सपनो को तुम्हारे आँखों से हटाएगी
पीछे मुड़कर न देखना मेरे यार
रास्तों की ठोकरें ही तुम्हे चलना सिखाएगी

विदा होकर हमसे जब भी जहाँ भी आप जाओगे
शुभकामना हमारी है जीवन में खुशियाँ ही पाओगे।।’

vida hokar hamse jab bhi jahan bhi aap jaaoge
shubhkaamnaye hamari hai jiwan me khushiyaan hi paaoge

लोग आते हैं जाते हैं हर जगह नई यादें बनाते हैं
आज तुम भी हमें अपनी यादों के संग छोड़ जाओगे

आज मिलेंगे, कल मिलेंगे
विदा हो जाओगे आज तुम
ना जाने फिर कब मिलेंगे।

सेवानिवृत्ति शायरी

साथ-साथ जाते थे ऑफिस लेकिन आज हम जुदा हो जायेंगे
रखना ख्याल अपना दोस्तों क्योंकि आज हम विदा हो जायेंगे

उनको रुख़्सत तो किया था मुझे मालूम न था

सारा घर ले गया मकान छोड़ के जाने वाला

शिक्षक सेवानिवृत्ति पर बधाई संदेश

unko ruksat to kiya tha mujhe maloom naa tha
sara ghar le gaya makaan chod ke jaana wala

मिलना बिछड़ना दुनिया की रीत है
इसको ख़ुशी से निभाते रहो
कब किससे दिल मिल जाए
राहों में दोस्त बनाते रहो

सेवानिवृत्ति पर शायरी

आप जैसा बड़प्पन किसी और में नहीं
आप बातो जैसा भोलापन किसी और में नहीं
आपको आज हम विदा कर रहे हैं मगर
आपके काम जैसे ईमानदारी किसी और में नहीं

सेवानिवृत्ति पर बधाई संदेश

उस गली ने सुन के सब्र किया
,जाने वाले यहाँ के थे ही नहीं

us gali ne sun ke shabr kiya
jaane wale yahan ke the hi nahi

सेवानिवृत्ति समारोह पर शायरी

aapke jaisa baddapan kisi aur me nahi
aapki baton me jaisa bholapan kisi aur me nahi
aapko aaj hum vida kar rahe hain magar
aapke kaam jaisa imaandaari kisi aur me nahi

कभी नालायक हुआ करते थे,
आज लायक बन गए जिन्दगी में
अब कैसे कर दे आपको विदा…
आपकी शिक्षा से हम आज क्या बन गए।

चमन से रुख़्सत-ए-गुल है न लौटने के लिए
तो बुलबुलों का तड़पना यहाँ पे जाएज़ है||

भोर गमगीन होकर खबर लाई है
दिन भी बेचैन है, धूप घबराई है
आपको हम विदाई दे दे,
मगर दिल सुबकने लगा, आंख भर आई है।

तेरी मंजिल तेरा हौसला आजमाएगी
तेरे सपनो को तेरी आँखों से हटाएगी
कभी पीछे मुड़कर न देखना ए दोस्त…
रास्ते की ठोकर ही तुझे चलना सिखाएगी।

सेवानिवृति पर कविता

माना ये दौर बदल जायेंगे।
आप जायेंगे कोई और आयेंगे
मगर आपकी कमी हमेशा रहेगी
सच कहते हैं आपको कभी न भूल पाएंगे।
मुश्किलों में जो साथ दिया याद रखा जायेगा
गिरते हुए को जो हाथ दिया याद रखा जायेगा
आपकी जगह जो भी आये वो आप जैसा ही हो।
हम बस ये ही चाहेंगे और यही मनाएंगे
सच कहते हैं हम आपको पल भर न भूल पाएंगे।

milna bichadna duniya ki rit hai
isko khushi se nibhate rahe
kab kisase dil mil jaaye
raaho me dost banaate raho

sena nivrti par kavita

chaman se rukshat-e-gul hai na lautane ke liye
toh bulbulo ka tadapna yahan pe jayaz hai

कुछ लोग इस तरह असर कर जाते हैं,
टूटे हुए शीशों मे भी खूब नज़र आते हैं
मिलते तो हैं पल भर के लिए,
मगर दिल में हमेसा के लिए उतर जाते हैं ।

kuch log is tarah asar kar jaate hain ,
tute hue shishei me bhi khoob najar aate hain
milte htoh hai pal bhar ke liye ,
magar dil me hamesha ke liye utar jaate hain

Leave a Comment

Your email address will not be published.